नवम्बर 2, 2016

जेपी मॉर्गन विश्लेषक विश्वास करते हैं कि डॉलर US चुनावी परिणाम की परवाह किए बिना कमजोर होगा। ट्रंप की जीत की स्थिति में, NordFX विश्लेषक पूर्वानुमान लगाते हैं कि इसकी गिरावट 10-15% तक पहुँच सकती है। यदि, दूसरी ओर, हिलेरी क्लिंटन जीतती हैं, तो सभी संकेतकों की अस्थिरता ± 5% तक पहुँच सकती है।

नवंबर 8 को आगामी राष्ट्रपति चुनाव US अर्थव्यवस्था में स्थिति को महत्वपूर्ण रूप से परिवर्तित कर सकता है और परिणामस्वरूप अन्य देशों की मुद्राओं के विरुद्ध डॉलर में बड़ी अस्थिरताओं को ला सकता है। ब्लूमबर्ग के अनुसार, US राष्ट्रपतित्व के लिए दो बड़े उम्मीदवार, हिलेरी क्लिंटन और डोनाल्ड ट्रंप, के चुनावी प्लेटफॉर्म ट्रेड नीतियों में बड़े बदलावों का वायदा करते हैं। इसमें जोड़ने के लिए, जेपी मॉर्गन चेज (सबसे बड़े ब्रोकरों में से एक) के विश्लेषकों के अनुसार इन उम्मीदवारों में से किसी एक की जीत का परिणाम वॉशिंगटन और इसके भागीदारों के बीच वृद्धिगत तनाव में बहुत कमी हो सकता है, यदि स्पष्ट व्यापारिक युद्ध नहीं। यह निवेशकों के पुन:अभिविन्यास के जोखिम को डॉलर से अन्य मुद्राओं में ले जाता है।

समान दृष्टिकोण ड्यूच बैंक के साथ-साथ HSBC और क्रेडिट सूस द्वारा साझा किया जाता है। क्रेडिट सूस न्यूयॉर्क ब्रांच की अग्रणी रणनीतिज्ञों में से एक, एस.जैलीनूस, के अनुसार, डॉलर को चुनाव के बाद सस्ता होना प्रारंभ करना चाहिए।

USDJPY पर एक कथन बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच विशेषज्ञों के द्वारा भी दिया गया है, जो अपेक्षा करते हैं कि डोनाल्ड ट्रंप का चुनाव जापानी मुद्रा के अभिमूल्यन के सापेक्ष डॉलर के मूल्य में गिरने का कारण होगा।

GBPUSD के लिए स्थिति अधिक जटिल है: दूसरी ओर, UK का EU से निकलने पर उपद्रव है, और दूसरी ओर संयुक्त राज्य में राष्ट्रपतित्व चुनाव से समान रूप से बड़ी अनिश्चितता है। मॉर्गन स्टेनले रिसर्च विश्वास करते हैं कि डॉलर पॉउंड को अच्छा मार्ग दे सकता है और युग्म ऊपर जाएगा।

"हम अगले राष्ट्रपति के अंतर्गत व्यापारिक झगड़े प्राप्त करने के लिए सुनिश्चित हैं,” जेपी मॉर्गन के जॉन नॉर्मंड कहते हैं। “ये ट्रंप की जीत की स्थिति में बड़े और क्लिंटन की स्थिति में मध्यम होंगे।" ऐसी ही राय अंतर्राष्ट्रीय ब्रोकरेज कंपनी NordFX के विश्लेषकों द्वारा साझा की जाती है। उनके दृष्टिकोण में, यदि डोनाल्ड ट्रंप US के राष्ट्रपति बनते हैं तो डॉलर यूरो की तुलना में 1000 से अधिक पॉइंट्स तक गिर सकता है।

"यदि हिलेरी क्लिंटन जीतती हैं,” NordFX मुख्य विश्लेषक जॉन गॉर्डन कहते हैं, “अस्थिरता कम होने की संभावना है और ± 5% से अधिक नहीं होगी। किंतु EURUSD के लिए ये पाँच प्रतिशत लगभग 500 पॉइंट्स बानएगा।”

“आइए उस बात पर एक नजर डालें जो आमतौर पर चुनावों के बाद होती है,” जॉन गॉर्डन जारी रखते हैं। “2000 में, गणतंत्रीय जॉर्ज डब्ल्यू. बुश जीते, जिसके परिणामस्वरूप डॉलर में तेज गिरावट हुई और संपूर्ण वर्ष यूरो के विरुद्ध लगभग 5,300 पॉइंट्स की कमी हुई। अगला चुनाव 2004 में घटित हुआ, और बुश पुन: जीते। ऐसा लगता था कि कुछ नहीं बदला किंतु, इसके बजाय, युग्म ने उनके नए चुनावी अभियान वायदों के द्वारा प्रेरित पलटी खाया, और इसे US मुद्रा को 2000 पॉइंट्स तक उठाने के लिए केवल महीने लगे। 2008 चुनाव में, लोकतंत्री बराक ओबामा राष्ट्रपति बने, जिसका परिणाम पुन: रुझान परिवर्तन हुआ: डॉलर छ: सप्ताहों में 2350 से अधिक पॉइंट्स गिरा। ओबामा का 2012 में फिर से चुनाव एक ओर मोड़ लाया और तीन माह से कम में ही 1050 पॉइंट्स की उछाल आई।”

“और ध्यान दीजिए,” NordFX विशेषज्ञ जोर देते हैं, “एक उछाल हमेशा घटित होती है, इसकी परवाह नहीं करती कि कौन जीतता है – गणतंत्रीय अथवा लोकतंत्री। मुझे विश्वास है कि यह चुनाव कोई अपवाद नहीं होगा। अधिक संभावना है, चुनावी बाद का रुझान, पूर्व की तरह, 2-3 महीने चलेगा – जब तक निवेशक यह पूर्ण रूप से गणना नहीं कर लेते हैं कि नए राष्ट्रपति के कौन से चुनावी वायदे पूरे होंगे, और कौन से कागज पर केवल शब्द ही रहेंगे। यह ट्रेडरों के लिए अच्छा पैसा कमाने के लिए बहुत अच्छी अवधि है।

इस क्षण पर, हम न केवल मुद्रा दरों की, बल्कि स्टॉक बाजार सूचकांकों और US कंपनी शेयरों की सशक्त गति की भी अपेक्षा कर सकते हैं, और ये गतियाँ लगभग शीघ्र ही प्रारंभ होंगी जैसे ही मतगणना के शुरुआती परिणाम सार्वजनिक किए जाते हैं। इस स्थिति में, ट्रेडर्स को अपनी वित्तीय परिसंपत्तियों को बुद्धिमानी से आबंटित करना चाहिए और सजग होना चाहिए, जिससे इन नए ट्रेड अवसरों का 100%  उपयोग होने से चूक न हो जाए।"


« व्यापार के मूल तत्वों को सीखना
प्रशिक्षण
प्राप्त करना
बाजार में नए हैं? प्रयोग करें “शुरूआत करना” खंड
प्रशिक्षण शुरू करें
हमारे साथ चलें (सोशल नेटवर्क में)