दिसम्बर 28, 2018

क्या हुआः वर्ष 2018

हमेशा की तरह, डॉयचे बैंक के विशेषज्ञों ने दिसंबर के अंत में वर्ष का सार बताया। और परिणाम नकारात्मक अर्थ के साथ सिर्फ शानदार थे। जनवरी 2018 की तुलना में 93% परिसंपत्तियों में गिरावट आई है, और यह आंकड़ा पिछले 118 वर्षों में सबसे खराब था, यहां तक कि 1920 के 84% को भी पार कर गया।

विशेषज्ञों का कहना है कि मंदी का मुख्य कारण "अत्यंत सॉफ्ट मॉनेटरी पॉलिसी" थी, जो मौद्रिक कसाव की वजह से बढ़ी। अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा चार अमेरिकी ब्याज दरों में बढ़ोतरी, ज्यादातर बाजारों को धराशायी करने के लिए पर्याप्त थी और यह लंबे समय की मंदी में तब्दील हो सकती है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने खुले तौर पर फेड चेयरमैन जेरोम पॉवेल और उनके सहयोगियों को पागल कहा और दर वृद्धि को खत्म करने का आह्वान किया। लेकिन नतीजा यह निकला कि राष्ट्रपति की बात को बैंकरों ने महत्व नहीं दिया और 19 दिसंबर को फेडरल ओपन मार्केट कमेटी (एफओएमसी) ने दर में 0.25% की बढ़ोतरी की। इसके अलावा यह पता चला है कि 2019 में इस समिति के केवल दो सदस्य 2.5% की दर देख रहे हैं, छह ने इसे 2.75%, चार को 3.25%, तीन को 3.30%, और दो एफओएमसी सदस्यों को 3.6% की दर देख रहे हैं!

परिणाम स्पष्ट है: वर्ष के अंत में सब कुछ जो गिर सकता है, वह सब बाजार में गिर रहा था। 1930 की महामंदी के बाद से डाउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज में सबसे खराब दिसंबर रहा। ब्लूमबर्ग की गणना के मुताबिक इस गिरावट ने दुनिया के 500 सबसे अमीर लोगों को 511 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ। फेसबुक के संस्थापक जकरबर्ग को सबसे अधिक नुकसान हुआ, उनके फॉर्चुन से 23 बिलियन डॉलर कम हो गए।

विदेशी मुद्रा बाजार के लिए 2018 की शुरुआत अमेरिकी डॉलर के मुकाबले यूरो की एक गंभीर मजबूती के रूप में चिह्नित की गई थी। चरम पर 16 फरवरी को, यूरो/डॉलर जोड़ी 1.2555 पर पहुंच गई थी। लेकिन तब फेड और ईसीबी की मौद्रिक नीति में अंतर, ब्रेक्जिट समझौते की कठिनाइयों, इतालवी समस्याओं और यूरोजोन अर्थव्यवस्था में मंदी ने डॉलर को नुकसान पहुंचाया और इस जोड़ी में गिरावट देखी गई। नवंबर के मध्य में यह जोड़ी 1.1215 पर पहुंच गई थी।

पाउंड/डॉलर ने भी इसी तरह का उतार-चढ़ाव देखा। 17 अप्रैल को वह अधिकतम मूल्य पर 1.4375 पर था और न्यूनतम 12 दिसंबर को दर्ज हुआ जब यह जोड़ी गिरकर 1.2475 पर पहुंच गई। इसने आठ महीने में 1,900 अंक का नुकसान उठाया।

जापानी येन को निवेशकों ने सेफ हेवन के तौर पर लिया क्योंकि अमेरिका चीन में व्यापारिक युद्ध बढ़ रहा था। हालांकि, इस मोर्चे पर कोई विशेष अंतर नहीं आया। डॉलर/येन की जोड़ी साल के अंत में 111.00 ज़ोन में पिछले दो वर्षों के पिवोट पॉइंट के आसपास बंद हुई। इस तरह 2018 की शुरुआत की तुलना में इस जोड़ी ने महज 200 अंक का नुकसान उठाया।

 

क्या होगाः वर्ष 2019

कई विश्लेषकों के अनुसार, निवर्तमान वर्ष में जो कुछ भी हुआ वह केवल एक सामान्य लंबे डिप्रेशन की शुरुआत है। सबसे पहले, यह पूर्वानुमान संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए चिंताजनक है, जहां दो साल के ट्रेजरी बांड पर यील्ड पहले ही कम हुई है, और इसी तरह की दस साल की प्रतिभूतियों पर यील्ड सात महीने के निचले स्तर पर आ गई है, जिसे मंदी का संकेत माना जाता है।

यूरोज़ोन की स्थिति कुछ बेहतर दिखती है। इस तथ्य के बाद भी कि ईसीबी ने मुद्रास्फीति और आर्थिक विकास के लिए अपने पूर्वानुमान को संशोधित किया है। पिछले वर्ष ने दिखाया कि ट्रम्प द्वारा शुरू किया गया ट्रेड वार पुरानी दुनिया के लिए उतना भयानक नहीं हैं जितना पहले माना गया था। हालाँकि, यूरोपीय मुद्रा और ब्रिटिश पाउंड दोनों ब्रेक्जिट से जुड़ी समस्याओं से प्रभावित हैं।

दूसरी ओर, संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन के बीच 90 दिन की तल्खी का अंत जल्द ही होगा, जो डॉलर विनिमय दर के बारे में अतिरिक्त अनिश्चितता का परिचय देता है।

इस बीच, दुनिया के अग्रणी बैंकों और एजेंसियों के रणनीतिकारों द्वारा दिए गए पूर्वानुमान, अधिकांश भाग के लिए, काफी समान दिखते हैं।

ब्लूमबर्ग ने यूरोपीय निर्यात की सकारात्मक गतिशीलता, जर्मन मोटर वाहन उद्योग में सुधार की स्थिति और औसत मजदूरी के त्वरित विकास पर अपने पूर्वानुमान को आधार बनाया है। यह सब यूरोज़ोन की मौद्रिक नीति के सामान्य होने और यूरो के बढ़ने से वर्ष के अंत तक 1.20 डॉलर के स्तर तक ले जा सकता है।

मॉर्गन स्टेनली को उम्मीद है कि वर्ष 2019 डॉलर के लिए मुश्किल होगा और यूरोज़ोन में मुद्रास्फीति के पूर्वानुमान के बीच यूरो के खिलाफ इसकी बिक्री की सिफारिश करेगा। यूरो/डॉलर जोड़ी के लिए तत्काल लक्ष्य 1.18 डॉलर ज़ोन में है।

यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि, अधिकांश भाग के लिए, विश्लेषक अगले 3 महीने की अवधि के लिए यूरो के प्रति आशावादी पूर्वानुमान लगा रहे हैं। सोसाइटी जनरल और सीआईबीसी कैपिटल मार्केट्स 1.17 डॉलर के स्तर पर इशारा कर रहे हैं, टीडी सिक्योरिटीज का पूर्वानुमान 1.18 डॉलर पर है, यूनिक्रेडिट का 1.19 डॉलर पर, और अंत में, लॉयड्स बैंक ने 1.24 डॉलर का रिकॉर्ड बार सेट किया है।

हालांकि, ज्यादातर विचार सतर्कता के हैं। इस प्रकार, सिटी के विशेषज्ञों का मानना है कि यूरोपीय मुद्रा अभी तक नीचे नहीं पहुंची है। और 2019 की पहली तिमाही के अंत तक यह 1.13 डॉलर तक गिर सकती है। उसके बाद ही यह ऊपर जाएगी, वर्ष के दूसरे हाफ में 1.18 डॉलर तक पहुंच जाएगी। बार्कलेज कैपिटल को 31 मार्च तक 1.12 डॉलर तक की गिरावट की उम्मीद है, और आईएनजी ग्रुप के पूर्वानुमान 1.11 डॉलर के निचले स्तर का है।

जेपी मॉर्गन चेज विश्लेषकों का यह भी मानना है कि 2019 में अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मंदी का अनुभव होगा, क्योंकि ट्रम्प की राजकोषीय उत्तेजना खत्म हो जाएगी, और फेड की मौद्रिक नीति अब सस्ते कर्ज प्रदान नहीं करेगी। इस प्रकार, यूरोज़ोन अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर आगे निकल जाएगी, और यूरो ईसीबी से उच्च ब्याज दरों की उम्मीदों पर बढ़ना शुरू हो जाएगा, लेकिन यह 2019 की दूसरी छमाही में ही होगा।

संख्याओं में पूर्वानुमान इस तरह दिख रहा है: पहली तिमाही में 1.11 डॉलर तक गिरावट और 2019 की चौथी तिमाही के अंत तक 1.18 डॉलर तक की बढ़ोतरी।

पाउंड/डॉलर के लिए, जेपी मॉर्गन चेज पूर्वानुमान ब्रिटिश मुद्रा में पहली तिमाही में 1.30 डॉलर तक की बढ़ोतरी की उम्मीद है और वर्ष के अंत तक 1.37 डॉलर तक की वृद्धि का अनुमान है। शर्त है ब्रेक्जिट हो जाए (40 प्रतिशत संभावना)। यूरोपीय संघ छोड़ने की शर्तों पर अनुबंध न होने की स्थिति में पाउंड 10% तक गिरेगा और ब्रेक्जिट रद्द होने की स्थिति में इसके विपरीत यह 10% बढ़ जाएगा।

भविष्य को लेकर येन के बारे में पूर्वानुमान नकारात्मक है। इसलिए, 2019 की पहली छमाही में येन/ डॉलर में 112 येन/डॉलर के स्तर तक की बढ़ोतरी की उम्मीद है और फिर 2016 के मूल्य यानी 118.0 के स्तर तक। विशेषज्ञ जापानी कंपनियों द्वारा विदेशी निवेश में वृद्धि और बिगड़ते व्यापार संतुलन से जापानी मुद्रा के कमजोर पड़ने की संभावना की व्याख्या करते हैं। स्प्रेड बढ़ने की भी उम्मीद है, जो येन की दर को प्रतिकूल रूप से प्रभावित करेगा।

इसी तरह के रुझान की भविष्यवाणी सिटी रणनीतिकारों ने की है। उनकी राय में, पाउंड/ डॉलर के 1.26-1.30 तक बढ़ने की संभावना है व येन/डॉलर के 113.00-115.00 तक।

 

जॉन गॉर्डन, नॉर्डएफएक्स



सूचना: इन सामग्रियों को वित्तीय बाजारों में काम करने के दौरान निवेश या मार्गदर्शन की सिफारिश नहीं माना जाना चाहिए: यह सिर्फ जानकारीपूर्ण उद्देश्यों के लिए हैं। वित्तीय बाजारों में ट्रेडिंग करना जोखिम भरा है और इससे जमा धन की हानि हो सकती है।


« व्यापार के मूल तत्वों को सीखना
प्रशिक्षण
प्राप्त करना
बाजार में नए हैं? प्रयोग करें “शुरूआत करना” खंड
प्रशिक्षण शुरू करें
हमारे साथ चलें (सोशल नेटवर्क में)